• बुधवार, मई 22, 2019
:: SSET, SAET VVET-2019 की प्रवेश परीक्षा के लिए आवेदन की तिथि विलम्ब शुल्क के साथ 31-03-2019 तक कर दी गई है | तथा प्रवेश परीक्षा 24-05-2019 को आयोजित की जायेगी | :: उच्चतर शिक्षा विभाग, मानव संसाधन विकास मंत्रालय द्वारा शिक्षक और शिक्षण पर पंडित मदन मोहन मालवीय राष्ट्रीय मिशन की योजना के अंतर्गत शिक्षक शिक्षण केन्द्र के लिए विद्यापीठ के शिक्षाशास्त्र विभाग को स्वीकृति प्रदान की है |
खोज
खोज :
स्टाफ लोग इन
 
सूची
 
  विद्यापीठ
शैक्षणिक
सुविधाएँ
ई-संसाधन
ई-शिक्षण
दृश्यावली
पूर्व स्नातक
परीक्षा परिणाम
विद्यापीठ समाचार पत्रिका

 
नवीन सूचनाएँ
समयावधि 30 March, 2019 से 25 April, 2019 तक : विद्यावारिधि(पीएच.डी) डिग्री से सम्मानित किया जाने वाले छात्रों की सूची के बारे में अधिसूचना   
डाउनलोड: अधिसूचना
विद्यापीठ में स्टाफ क्वार्टर(टाइप-III) के लिए आवेदन पत्र आमंत्रित किए जाने के संबंध में अधिसूचना   
डाउनलोड: अधिसूचना
01 वर्ष की अवधि के लिए फोटोकॉपियर मशीनों के व्यापक रखरखाव अनुबंध (ए.एम.सी) के लिए कोटेशन आमंत्रित किए जा रहे है|
डाउनलोड: सूचना
19.05.2019 को उद्घाटन किये जाने वाले संस्कृत संमेलन के संबंध में कार्यालय आदेश|
डाउनलोड: कार्यालय आदेश
अंशकालिक पाठ्यक्रमों के लिए मई 2019 परीक्षाओ में कर्तव्यों के संबंध में सूचना
डाउनलोड: सूचना
शैक्षणिक वर्ष 2019-20 में बी.एड. और एम. एड. द्वितीय वर्ष के छात्र के लिए सूचना
डाउनलोड: सूचना
50 दिनों के योग प्रशिक्षण कार्यक्रम के संबंध में कार्यालय आदेश
डाउनलोड: कार्यालय आदेश
विद्वत्परिषद् परिषद की बारहवी बैठक के संबंध में अधिसूचना
डाउनलोड: अधिसूचना
पुरानी स्टाफ कार की सार्वजनिक नीलामी के संबंध में सूचना
डाउनलोड: सूचना
मई, 2019 में आयोजित होने वाली परीक्षाओं की व्यवस्था और कर्तव्यों के संबंध में अधिसूचना
डाउनलोड: अधिसूचना
 
 
 
महिला अध्ययन केन्द्र

 

श्री लाल बहादुर शास्त्री राष्ट्रिय संस्कृत विद्यापीठ ने यू0जी0सी0 की दसवीं योजना के अन्तर्गत महिला अध्ययन केन्द्र की स्थापना की। इस केन्द्र में माह फरवरी 2006 में स्थायी संकाय सदस्यों की नियुक्ति की गई और केन्द्र ने अब अपनी भिन्न गतिविधियाँ आरम्भ कर दी है।

 

महिला अध्ययन केन्द्र का मूल कार्य क्षेत्र शोध एवं प्रकाशन है। संस्कृत विद्यापीठ की संस्कृति एवं दृष्टिकोण को ध्यान में रखते हुए, महिला अध्ययन केन्द्र की मुख्य भूमिका उन महिला संस्कृति विदूषियों, साहवियों एवं लेखिकाओं की कृतियों को उजागर करने में होगी, जिन्हें अभी भी साहित्य में पर्याप्त स्थान नहीं मिला है। साथ ही केन्द्र की यह भी कोशिश होगी कि वो इन महिला विदूषियों के उदाहरण से वर्तमान नारी आंदोलन को नए आयाम प्रदान करें। यह केन्द्र एक ऐसे समाज की सृजन करने में प्रयासरत रहेगा जिसमें पारम्परिक तथा आधुनिक मूल्यों का समन्वय बना रहे।

 
निदेशिका संकाय सदस्य डॉ रजनी जोशी चौधरी, एम0एस0सी0 (जन्तुवि0), एम0ए0 (संस्कृत), एम0एड0, एम0फिल0, पी0एच0डी0 (शिक्षा शो0)
प्रवक्ता डॉ सविता राय, सहायक प्रोफेसर (शिक्षा संकाय)
 
 
शिक्षण
  • केन्द्र ने महिला अध्ययन में प्रमाणपत्र पाठ्यक्रम की आरम्भ किया है।
  • स्नातक स्तर पर एक फाउनडेशन कार्यक्रम का आरम्भ किया गया है।
  • सभी विषयों में मूल पाठ्यक्रम में महिला सम्बन्धित मुद्दों को शामिल करने के सुझाव।
शोध

इस केन्द्र के अन्तर्गत एक सक्रिय रिसर्च फोरम् कार्यशील है। यह फोरम बुद्धिजीवियों को अपने विचार व्यक्त करने के लिये एक प्लेटफार्म प्रदान करता है। इस फोरम में 15 दिन में एक बार संस्कृत साहित्य, धर्मशास्त्र एवं अन्य सम्बन्धित क्षेत्रों में महिला सम्बन्धित विषयों पर पत्र प्रस्तुति की जाती है। फोरम में प्रस्तुत सभी प्रत्र एक पुस्तक के रूप में प्रकाशित किए जाएंगे। फोरम के अन्तर्गत समय-समय पर अतिथि व्याख्यान भी आयोजित किए जाएंगे।

 
केन्द्र की गतिविधियां
  • दिनांक 10 जनवरी, 2006 को विद्यापीठ में प्रो0 अमिता शर्मा, संकाय प्रमुख साहित्य एवं संस्कृति की अध्यक्षता में एक बैठक आयोजित की गयी। इस बैठक का संयोजन डा0 रजनी जोशी चौधरी द्वारा किया गया। इस बैठक में विद्यापीठ की महिला विद्यार्थियों हेतु एक प्रश्नावली का निर्माण किया गया। इसका मुख्य उद्देश्य उनकी समस्याओं, आंकाक्षाओं और सामान्य जागरूकता का पता लगाना है।
  • दिनांक 2-3 फरवरी, 2006 को महिला अध्ययन केन्द्र द्वारा एक द्विदिवीसय कार्यशाला का आयोजन महिला अध्ययन हेतु पाठ्यक्रम विकास विषय पर किया गया, जिसमें महिला अध्ययन केन्द्रों की विदुषी एवं अनुभवी वरिष्ठ कार्यकर्त्ताओं द्वारा भाग लिया गया।
  • दिनांक 3 मार्च, 2006 को अर्न्तराष्ट्रीय महिला दिवस मनाया गया तथा इस कार्यक्रम में विद्यापीठ के संकाय सदस्य तथा विभिन्न विभागों के विद्यार्थी एकत्रित हुए तथा महिलाओं सम्बन्धित दिये गये विषयों पर विद्यार्थियों ने अपने विचार प्रस्तुत किये।
  • दिनांक 20 मार्च से 24 मार्च, 2006 तक इस केन्द्र में विषय अनुभाग आयोग की उच्चशिक्षा में रत महिला प्रबन्धकों के लिये क्षमता कार्यशाला की योजना के अन्तर्गत ‘प्रशिक्षकों के लिये प्रशिक्षण’ कार्यशाला की गई।
  • 7 अगस्त, 2006 को केन्द्र द्वारा रिसर्च फोरम का उदघाटन कार्यक्रम किया गया।
 
आगामी कार्यक्रम
सितम्बर 1-2 ‘कालिदास के उत्कर्ष में विद्योतमा का योगदान’ विषय पर संगोष्ठी का आयोजन।
सितम्बर 4-19 स्नातक छात्रों के लिए महिला अध्ययन में फाउण्डेशन कोर्स
  • संस्कृत विद्यापीठ के शिक्षक एवं शिक्षिकाओं के लिए जेंडर सेसिटाइजेशन कार्यशाला
  • दिवाली मेला
  • संस्कृत विद्यापीठ के कर्मचारियों के लिए जेंडर सेंसिटाइजेशन कार्यशाला
 
 
 
 
  2006 सर्वाधिकार सुरक्षित संस्कृत विद्यापीठ , नई दिल्ली , सम्मति  :वेबमास्टर डिस्क्लेमर         अच्छा प्रदर्शन : 800X600
कम्प्यूटर केन्द्र द्वारा अनुरक्षित-एस एल बी एस आर एस वी , नई दिल्ली, ११००१६